Jan 23, 2018

पिकासो की पेंटिंग

पिकासो स्पेन में जन्में बेहद लोकप्रिय और प्रसिद्ध चित्रकार (पेंटर) थे. दुनियाभर में उनकी पेंटिंग्स करोड़ों रुपयों में बिका करती थी.

एक दिन वो पैदल कहीं से गुजर रहे थे तो एक महिला की नज़र उन पर पड़ी और संयोग से उस महिला ने पिकासो को पहचान लिया. वह दौड़ती हुई पिकासो के पास पहुंची और बोली, “सर, मैं आपकी बहुत बड़ी फैन हूँ". आपकी बनायीं पेंटिंग्स मुझे बहुत ज्यादा पसंद है. क्या आप मेरे लिए अभी एक पेंटिंग बना देंगे ?”

पिकासो हँसतें हुए बोले, “ मैं यहाँ खाली हाथ हूँ, मेरे पास कुछ भी नहीं है. मैं फिर कभी आपके लिए पेंटिंग बना दूंगा ”.

लेकिन उस महिला ने भी ज़िद पकड़ ली, “ प्लीज़ मुझे अभी एक पेंटिंग बना कर दीजिये, बाद में पता नहीं मैं आपसे मिल पाऊँगी या नहीं ”.

पिकासो ने अपनी कोट की ज़ेब में हाथ डाला. एक काग़ज का टुकड़ा निकाला और अपने पैन से उस काग़ज पर कुछ बनाने लगे. करीब 10 मिनट के अंदर पिकासो ने पेंटिंग बनाई और उस महिला से कहा, ‘ ये लीजिये आपकी मिलियन डॉलर पेंटिंग ‘.

महिला को बड़ा अजीब सा लगा कि पिकासो ने 10 मिनट में जल्दबाज़ी में मुझे टरकाने के लिए एक पेंटिंग बना दी है और कह रहें हैं कि ये मिलियन डॉलर की पेंटिंग है. उसने पिकासो से वो पेंटिंग ली और बिना कुछ बोले अपने घर आ गयी.

महिला बड़ी असमंजस में थी. उसे लगा कि पिकासो उसे पागल बना रहें हैं. वो झटपट बाज़ार गयी और उस पेंटिंग की क़ीमत पता की. उसे बड़ा आश्चर्य हुआ कि वो पेंटिंग तो वास्तव में मिलियन डॉलर की ही निकली.

वो भागी-भागी एक बार फिर पिकासो के पास आई और बोली, “ सर, आपने तो बिलकुल सही कहा था. ये तो मिलियन डॉलर की ही पेंटिंग है ”.

पिकासो हँसतें हुए बोले, “ मैंने तो आपसे पहले ही कहा था ”.

उस महिला ने कहा, “ सर, आप मुझे अपनी स्टूडेंट बना लीजिये और मुझे भी पेंटिंग बनानी सिखा दीजिये. जैसे आपने 10 मिनट में मिलियन डॉलर की पेंटिंग बना दी, वैसी ही मैं भी 10 मिनट में न सही, 10 घंटे में ही इतनी अच्छी पेंटिंग बना सकूँ. मुझे ऐसा बना दीजिये ”.

पिकासो ने हँसते हुए कहा, “ ये पेंटिंग जो मैंने 10 मिनट में बनायी है. इसे सीखने में मुझे 30 साल का समय लगा है. मैंने अपने जीवन के 30 साल सीखने में लगा दिए हैं और अब भी सीख ही रहा हूँ. तुम भी समय दो, सीख जाओगी ”.

वो महिला खड़ी की खड़ी रह गयी और निशब्द होकर पिकासो को देखती रह गई.

कोट ऑफ़ द डे: रोम वाज नौट बिल्ट इन ए डे. आप कब सीखना शुरू कर रहे हैं ?

एक्सक्लूसिव 😢: 
मेरे पड़ोस में रहने वाले एक टीचर का दर्द : इसी तरह एक टीचर के बोले गए एक सेंटेंस के पीछे भी उसकी बरसों की मेहनत होती है. लेकिन दूर से देखने में सबको लगता है कि “बस बोलना ही तो है”.

हँसना मना है 😉 : पड़ोस वाली आंटी पिछले एक घंटे से हमारे दरवाज़े पे खड़ी होकर मम्मी से बातें कर रही थी.......लेकिन बैठी इसलिए नहीं क्योंकि उन्हें देर हो रही थी.  



ये पोस्ट आपको कैसी लगी ?  कृपया अपने कमेंट्स व सुझाव ज़रूर दें ताकि हम आपके लिए और अच्छा कंटेंट प्रेजेंट कर सकें.
थैंक यू फॉर वाचिंग दिस ब्लॉग. स्टे कनेक्टेड. स्टे पॉजिटिव. स्टे हैप्पी.