Mar 8, 2018

#PressForProgress




अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस हर साल 8 मार्च को मनाया जाता है. ये महिलाओं का स्पेशल दिन है. संसार की रचना करने वाली और हम सब की जन्मदाता वो ही है. मां, पत्नी, बहन, दोस्त जैसे कई रिश्तों में एक महिला हमेशा हमारे साथ होती है. मां के रूप में एक महिला को ईश्वर से भी बढ़कर माना गया है.

ये दिन International Women’s Day के रूप में कुछ ज्यादा ही ख़ास मायने रखता है. ये दिन सारी दुनिया में महिलाओं को सम्मान देने, हर क्षेत्र में महिलाओ द्वारा प्राप्त की गयी उपलब्धियों को मनाने और लिंग समानता पर बल देने के लिए मनाया जाता है. इस दिन महिलाओं को उनके द्वारा दिए गए योगदानों को सम्मान दिया जाता है और समाज और परिवार के लिए उनके समर्पण को नमन किया जाता है.

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2018 की थीम क्या है?
हर साल अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के लिए एक थीम फाइनल की जाती है. इस साल 2018 की थीम है #PressForProgress. इसका मुख्य उद्देश्य महिलाओं को उनके अधिकारों के लिए प्रोत्साहित और जागरूक करना है।

हम अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस क्यों मनाते हैं?  
किसी भी देश की प्रगति के लिए बेहद आवश्यक है उस देश की सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक क्षेत्रो में महिलाओ की भूमिका और उनका आगे आना. बिना महिलाओं के योगदान के किसी भी देश को प्रगतिशील नहीं कहा जा सकता. ऐसे कई देश है जहां सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक क्षेत्रो में महिलाओ की भागीदारी पुरूषों के मुकाबले बहुत कम है. और तो और, कई जगहों पर तो महिलाएं पुरुषों की तुलना में बहुत पिछड़ी हुई है. फ़िर चाहे वो शिक्षा क्षेत्र हो, समान अधिकार से जुड़े मसलें हो या फ़िर सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा से जुड़े मुद्दे. अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के दिन इन असमानताओं को मिटाने, समाज को ध्यान दिलाने के लिए सारी दुनिया महिलाएं एक साथ एकत्रित होती है. अलग-अलग कार्यक्रम, स्पीच और सेमिनार आयोजित होते हैं जिनमें महिलाओं की भूमिका पर विचार-विमर्श किया जाता है.इस अवसर पर उन महान महिलाओं को सम्मानित भी किया जाता है जिन्होंने सभी असमानताओं से लड़ते हुए कमाल की उपलब्धियाँ हासिल की हों.

भारत में भी महिला दिवस बड़े स्तर पर मनाया जाने लगा है. इस दिन महिलाओं को समाज में उनके विशेष योगदान के लिए सम्मानित किया जाता है और महिलाओं के लिए काम कर रहे कई संस्थानों द्वारा कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं. साहित्य, शिक्षा, सोसाइटी, राजनीति, संगीत, फिल्म, खेल आदि क्षेत्रों में श्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए महिलाओं को सम्मानित किया जाता है.