May 3, 2018

मक्खन सिर्फ खाया जाता है.....लगाया नहीं जाता.

चेतन भगत.

एक ऐसा सितारा जो I.I.T और I.I.M. का प्रोडक्ट है लेकिन चमका अपनी सफ़ेदी से ही. उनका लेखन यूथ को नयी दिशा, नए विचार देता है. आत्मा को हिलाता है, डुलाता है. 

उनके लिखे नावेल (जिन पर काबिले-तारीफ़ फ़िल्में भी बनाई जाती हैं) जादुई असर करते नज़र आते हैं. आदमी को सोचने पर मजबूर करते हैं कि आख़िर वो आदमी किसलिए है आदमी? आदम से एक कदम आगे का आदमी. चीज़ों को ट्रांसपेरेंट तरीकों से तलाशता आदमी और आम जिंदगी में दूसरों और अपनों के लिए ख़ुशी के तारे लाता आदमी.

चेतन कमाल के आदमी हैं और उससे भी बढ़कर इंसानियत को समझने-समझाने में जूझ रहा एक योद्धा. साफ़ शब्द....सटीक बात.
उनके 9 छोटे लेकिन असरदार विचार....एक नज़र डालते हैं.

1.  मक्खन सिर्फ खाया जाता है.... लगाया नहीं जाता.

2.  आपकी स्टोरी में Hero हो या ना हो.... आपकी स्टोरी Heroic होनी चाहिए.

3.  जिंदगी गंभीरता से लेने के लिए नहीं है, हम यहाँ अस्थायी रूप से हैं. हम सभी एक Prepaid Card की तरह है जिसकी Limited Validity है.

4.  याद रखिए..... किसी भी चीज को बहुत गम्भीरता नहीं लेना चाहिए. Frustration कहीं ना कहीं एक इशारा है कि आप चीजों को बहुत गम्भीरता ले रहे हैं.

5.  अपने लिए सिर्फ करियर या अकेडमिक गोल्स ही ना बनाएं. ऐसे गोल्स बनाए जो आपको संतुलित और सफल जीवन प्रदान करे. 

6.  अपने ब्रेकअप के दिन प्रमोशन पाने का कोई मतलब नहीं है. कार चलाने में कोई मजा नहीं है अगर आपके पीठ में दर्द हो. दिमाग टेंशन से भरा हो तो भला शॉपिंग करने की क्या खुशी होगी?

7.  मेरे हिसाब से दुनिया आधे पेड़ IIT Entrance Exam की गाइड को बनाने में काट दिए जाते हैं, जिसमें ज्यादातर रद्दी हैं.

8.  शान से जियो, दूसरों के लिए जियो. यही वो तरीका है, जिससे कोई भी सम्मान पाता है.

9.  हो सकता है कि जब आप लोगों को पसंद करना शुरु कर देते हो, तो आप उनकी हर चीजों को भी पसंद करना शुरू कर दो.



No comments: