Oct 22, 2018

अरे ये क्या ? तक़दीर ने अचानक फ़िर से पलटी मार दी ? Surprised ?








कभी कभी अपनी पसंद का कुछ भी ना होना. ये अक्सर हो जाता है. अचानक से. बिना जाने. बिना समझे. 

बस पलक झपकी नहीं के वो हो जाता है जिसका अंदाजा तक नहीं होता. आप अनुमान लगाएं उससे पहले ही कुछ ऐसा हो जाता है. लेकिन हर चीज़ जो आपने नहीं चाही और वो हो गई. ये होता है. होगा भी. ये आपके हाथ में नहीं होता. कभी होगा भी नहीं.

पर ये दिलचस्प है. ये अनोखा है. ये ही सरप्राइज है. अगले पल क्या होगा, ये कोई जान भी कैसे सकता है? आप सिर्फ़ अपने एक्सपीरियंस के base पर Guess ही कर सकते हैं.

लाइफ़ का ये ही रहस्य है. सबसे सुलझी पहेली. 

ये भूलभलैया की तरह है. जहां जाना था, वो रास्ता मिलता नहीं और जो अगर रास्ता मिल भी गया तो आगे दूसरे मोड़ पर कोई और रास्ता आपका हमसफ़र बनेगा.

जीवन T-20 मैच की तरह है. पहली गेंद पर आपने Sixer मारा और अगली गेंद पर बोल्ड. आप उदास कि ये क्या हुआ? आप मैदान छोड़कर जाने लगते हैं कि अचानक आपको पता चलता है अंपायर ने नो बाल कह दिया. 

आपकी उदासी अब ख़ुशी में बदल गयी. जैसे ही आप पिच पर वापिस लौटे, दूसरी टीम के कप्तान ने थर्ड अंपायर की मदद ली. अरे ये क्या? रीप्ले में साफ़ पता चल रहा है कि वो नो बाल नहीं थी. अब ??? 

अरे ये क्या ? तक़दीर ने अचानक फ़िर से पलटी मार दी? क्यों?  

बस जीवन कुछ ऐसे ही गेम खेलता है. सब के साथ. कोई कुछ नहीं कर सकता सिवाय इसके कि जो है उसे सहज ही स्वीकार कर ले. Otherwise तनाव तो रहेगा ही.

और समझदारी क्या है? ये आप कहीं ज्यादा बेहतर जानते है.

हौसला बनाए रखना है. मुस्कुराना भूलना नहीं. दर्द पीना हो होगा. एक दिन आपका भी आएगा. हर किसी का आता है. लम्बे इंतजार का मतलब फेलियर नहीं है. इसका मतलब साफ़ है – जो भी अच्छा बचा हुआ है, अब उसे पाने की बारी आ गयी है. बस इतना ही. ये इतना ही सब कुछ है. ये इतना ही चाहिए था. ये इतना ही आपको अमीर बना देगा.

अपने सही समय का इंतजार कीजिए. तब तक ईमानदारी से अपनी बैटिंग करते रहिए. आप भाग्यशाली हैं कि आपको बैटिंग करने का मौका मिल रहा है. जरा नज़र घुमा कर देखिए. कितनी ही आंखें ऐसी हैं जिन्होंने आज तक बल्ले को टच करके भी नहीं देखा. मैच खेलना और Sixer मारना या बोल्ड हो जाना तो बहुत आगे का मंजर है.

जिंदगी एक है. मन की आंखों से देखिए, ये बड़ी ही नेक है. आप यकीनन एक दिन इतिहास बना कर ही विदा लेंगे. और फ़िर बखूबी जान पाएंगे कि इस दुनिया में कितने सारे सुपरस्टार हैं जो लाइफ़ की पिच पर डटकर मुसीबतों का वैसे ही सामना कर रहें है जैसे कुछ देर पहले तक आप कर रहे थे.

दुनिया में हर कोई अपने हिसाब से मैच खेल रहा है. एक हारेगा तभी कोई दूसरा जीत सकेगा. एक साथ सब कैसे जीत सकते हैं? 

प्रकृति का नियम कोई तोड़ भी कैसे सकता है? लाइफ़ की इसी खूबसूरती का मज़ा लीजिए. अपनी बारी का इंतजार करना सीखिए. ये हर किसी के लिए मुमकिन है और यक़ीनन सही भी.

जीवन की इस कशमकश भरी कॉमेडी का आनंद लें. ये आज है. कल नहीं होगी. किसी के लिए भी नहीं. 

इसके लिए कोई सिकंदर नहीं है. ये आपको वहीं ले जाएगी, जहां ये आपको देखना चाहती है.

   

No comments: