Apr 7, 2018

और कार, ऑटो रिक्शा से टकराते-टकराते बची....

एक व्यक्ति ऑटो रिक्शा से रेलवे स्टेशन जा रहा था. ऑटो वाला बड़े आराम से ऑटो चला रहा था. एक कार अचानक ही नजदीकी पार्किंग से निकलकर सड़क पर आ गई. ऑटो ड्राइवर ने तेजी से ब्रेक लगाया और कार, ऑटो रिक्शा से टकराते-टकराते बची. कार चला रहा आदमी गुस्से में ऑटो वाले को ही भला-बुरा कहने लगा जबकि गलती उसकी थी.


ऑटो चालक एक सत्संगी स्वभाव वाला यानि पॉजिटिव विचार सुनने-सुनाने वाला था. उसने कार वाले की बातों पर गुस्सा नहीं किया और ख़ुद ही उससे माफ़ी मांगते हुए आगे बढ़ गया.

ऑटो में बैठे व्यक्ति को कार वाले की हरकत पर गुस्सा आ रहा था और उसने ऑटो वाले से पूछा “तुमने उस कार वाले को बिना कुछ कहे ऐसे ही क्यों जाने दिया?” उसने तुम्हें कितना भला-बुरा कहा जबकि गलती तो उसकी ही थी. हमारी किस्मत अच्छी है, नहीं तो उसकी वजह से अभी हम किसी अस्पताल में होते.

ऑटो वाले ने बड़ी शांति से जवाब दिया “साहब बहुत से लोग Garbage ट्रक (कूड़े का ट्रक) की तरह होते हैं. वे बहुत सारा कूड़ा अपने दिमाग में भरे हुए घूमते हैं, चलते हैं, जागते हैं और सोते हैं. जिन चीजों की जीवन में कोई ज़रूरत नहीं होती, उनको मेहनत करके जोड़ते रहते हैं जैसे गुस्सा, नफ़रत, जलन, चिंता, निराशा और हमेशा दूसरों की गलतियां निकालना. अब जब उनके दिमाग में ये कूड़ा बहुत अधिक हो जाता है तो वे अपना बोझ हल्का करने के लिए इसे दूसरों पर फेंकने का मौका ढूँढ़ने लगते हैं.

इसलिए मैं ऐसे लोगों से दूरी बनाए रखता हूं. और उन्हें दूर से ही मुस्कराकर उन्हें अलविदा कह देता हूं. क्योंकि अगर उन जैसे लोगों द्वारा गिराया हुआ कूड़ा मैंने स्वीकार कर लिया तो मैं भी कूड़े का ट्रक बन कर रह जाऊंगा. और अपने साथ-साथ आसपास के लोगों पर भी वह कूड़ा गिराता फिरूंगा. और इससे किसी का कोई भला तो होने वाला नहीं.

साहब, मैं तो सोचता हूँ जिंदगी बहुत ख़ूबसूरत है. इसलिए जो हमसे अच्छा व्यवहार करते हैं, उन्हें थैंक यू कहो और जो हमसे अच्छा व्यवहार नहीं करते उन्हें मुस्कुराकर माफ़ कर दो. हमें यह हमेशा याद रखना चाहिए कि सभी मानसिक रोगी केवल हॉस्पिटल्स में ही नहीं रहते हैं. कुछ हमारे आसपास खुले में भी घूमते रहते हैं. और आप उन्हें देख कर हैरान हो जाते हैं. अगर वो दूसरों की बजाय थोड़ा समय ख़ुद को पहचानने में लगा दें तो 70% बीमार लोग एकदम स्वस्थ हो जायेंगे क्योंकि वो मन से बीमार हैं, तन से नहीं.

प्रकृति का नियम:
जिसके पास जो होता है वह वही बाटता है. हंसने वाला हंसी बाटता हैं. रोने वाला रोना बाटता है. डरने वाला डर बाटता है. बड़ा आदमी बड़प्पन और छोटा आदमी छोटापन. सुखी आदमी सुख और दुखी आदमी दुख बाटता है. कन्फ्यूज्ड आदमी कन्फ्यूजन बाटता है. विज़न वाला विज़न बाटता है. कामयाब आदमी कामयाबी और फेल आदमी निराशा बाटता है. वफ़ादार वफ़ा और धोखेबाज धोखा बाटता है. ज्ञानी ज्ञान और अज्ञानी अज्ञान बाटता है. चमका हुआ आपको चमका देता है. बुझा हुआ आपको बुझा देता है. लालची आदमी लालच और दयालु प्रेम बाटता है. सारा खेल होने और बांटने का है.
ये समझ आ जाये तो हर पल सतयुग. और इससे सिंपल कोई और चीज़ कहां?

Apr 5, 2018

आप सभी लोगों को हर समय धोखा नहीं दे सकते.



Quote 1: मेहनत हमेशा धन से पहले और धन से स्‍वतंत्र है। धन तो मेहनत का केवल एकमात्र फल है, और अगर मेहनत नहीं की जाती तो ये कभी अस्तित्‍व में नहीं आता. मेहनत धन से बड़ी है, और उससे ज्‍यादा महत्‍व रखती है.

Quote 2: मैं अपने बारे में ये कहलाना पसंद करूँगा की जहाँ भी मुझे लगा की यहाँ फूल विकसित हो सकते हैं मैंने हमेशा झाडियों और कांटेदार पौधों को उखाड़कर फूलों को बोया है.

Quote 3: तुम जो भी हो, नेक बनो.

Quote 4: मैं एक धीमी गति से चलता ज़रूर हूँ, लेकिन कभी वापस नहीं चलता.

Quote 5: आप एक पेड़ काटने के लिए मुझे 6 घंटे दें और मैं पहले 4 घंटे अपनी कुल्हाड़ी की धार तेज करने में लगाऊंगा.

Quote 6: आप सभी लोगों को कुछ समय तक और कुछ लोगों को हर समय धोखा दे सकते हो, लेकिन आप सभी लोगों को हर समय धोखा नहीं दे सकते.

Quote 7: जिस प्रकार मैं एक गुलाम नहीं बनना चाहता, उसी प्रकार मैं किसी गुलाम का मालिक भी नहीं बनना चाहता.

Quote 8: अगर आपको कोई महत्‍व नहीं देता है तो चिंता कीजिए, पर महत्‍व प्राप्‍त करने के लिए कोशिश जारी रखिए.

Quote 9: उस व्‍यक्ति को आलोचना करने का अधिकार है, जो सहायता करने की भावना रखता है.

Quote 10: यदि आप शांति चाहते हो तो लोकप्रिय होने से बचो.

Quote 11: साधारण दिखने वाले लोग ही दुनिया के सबसे अच्छे लोग होते हैं, यही वजह है कि भगवान ऐसे ही बहुत सारे लोगों का सृजन करते हैं.

Quote 12: मैं जो भी हूँ, या जैसा भी होने की उम्मीद करता हूँ, उसका सारा श्रेय मेरी माँ को जाता है.

Quote 13: एक मित्र वह है जिसके शत्रु वही हैं, जो तुम्हारे शत्रु हैं.

Quote 14: कुछ लोगो के द्वारा प्राप्‍त की गई महान सफलता इस बात का प्रमाण है कि बाकी सारे लोग भी इसे प्राप्‍त कर सकते है.

Quote 15: हमेशा यह ध्यान में रखिये कि आपके द्वारा सफल होने का लिया गया संकल्प आपके किसी भी अन्य संकल्प से ज्यादा महत्वपूर्ण है.

Quote 16: जब मैं अच्छा करता हूँ, मुझे अच्छा लगता है. जब मैं बुरा करता हूँ, तो मुझे बुरा लगता है.यही मेरा धर्म है.

Quote 17: कार्य की अधिकता से उकताने वाले व्‍यक्ति कभी कोई बड़ा कार्य नहीं कर सकते.

Quote 18: चरित्र एक पेड़ की तरह है और इज्‍ज़त एक परछाई की तरह है. हम परछाई के बारे में सोचते हैं. जबकि पेड़ असली विषय है.

Quote 19: मेरा हमेशा से मानना रहा है कि कड़ी सजा की तुलना में दया ज्‍यादा फलदायक सिद्ध होती है.

Quote 20: सच्‍चा दोस्‍त वो है जो मुझे ऐसी किताब लेकर दें, जो मैने अभी तक नहीं पढ़ी.

Quote 21: मुझे अधिक संबंध इस बात से नहीं है कि आप असफल हुए, बल्कि इस बात से कि आप अपनी असफलता से कितने संतुष्‍ट हैं.

Quote 22: हमें नयी परिस्थितियों में नयी सोच के साथ आगे बढ़ना चाहिए. तभी हम सफलता प्राप्‍त कर सकते हैं.

Quote 23: मेरी चिन्‍ता ये नही है की भगवान मेरे साथ है या नहीं. मेरी चिंता ये है कि मै भगवान के साथ हूं या नहीं. क्‍योंकि भगवान हमेशा सही होता है.

Quote 24: विद्यालय के कमरे की एक पीढ़ी के सिद्धांत अगली सरकार के सिद्धांत होंगे.

Quote 25: जो लोग दूसरों को आज़ादी देने से इनकार करते हैं वह खुद भी इसके योग्‍य नहीं हैं.

Quote 26: चुप रहकर मूर्ख लगना अच्‍छा है बजाय इसके कि आप बोलें और सारे शक दूर कर दें.

Quote 27: आप आज टाल-मटोल करके कल की जिम्‍मेदारियों से भाग नहीं सकते.

Quote 28: मैं जीतने के लिए प्रतिबद्ध नहीं हूँ लेकिन मैं सही और सच्‍चे होने के लिए प्रतिबद्ध हूँ.

Quote 29: मेरे पास कभी एक नीति नही थी. मैने तो बस हर दिन अपना सर्वश्रेष्‍ठ करने की कोशिश की.

Quote 30: ज्‍यादातर लोग उतने ही खुश रहते हैं जितना वो अपने दिमाग में तय कर लेते हैं.

Quote 31: अगर आप किसी भी व्‍यक्ति के अन्‍दर बुराई खोजने की इच्‍छा से देखते हैं तो आपको जरूर मिल जाएगी.

Quote 32: अगर कोई भी काम कोई व्‍यक्ति अच्‍छे से कर सकता है, तो मैं कहूँगा उसे करने दीजिये। उसे एक मौका दीजिये.

Quote 33: औरत ही एक मात्र प्राणी है जिससें मैं ये जानते हुए भी की वो मुझे चोट नहीं पहुंचाएगी, फिर भी डरता हूं.

Quote 34: अगर कुत्ते की पूंछ को पैर कहें, तो कुत्ते के कितने पैर हुए? 4. लेकिन पूंछ को पैर कहने से वो पैर तो नहीं हो जाती.

Quote 35: कुछ करने की इच्‍छा वाले व्‍यक्ति के लिए इस दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है.

Quote 36: एक नौजवान व्‍यक्ति को आगे बढ़ने के लिए उसे हर संभव तरीके से अपना विकास करना चाहिए, ऐसा कभी नहीं शक करना चाहिए कि कोई उसके रास्‍ते में रूकावट हो सकता है.

Quote 37: भविष्‍य की सबसे अच्‍छी बात यही है कि वह एक दिन जरूर आता है.

Quote 38: मैं Prepare करूगां और कभी न कभी मेरा भी Chance आयेगा.


Apr 4, 2018

हमारी सेटिंग बन जाये यानि......

आज के दौर में शायद चमत्कारों के बारे में सोचना सिर्फ़ एक अंधविश्वास या कोरी कल्पना लग सकता है क्योंकि आज की Planned लाइफ में ईश्वर को भी एक Product की तरह देखा जाने लगा है. अगर ईश्वर के साथ हमारी सेटिंग बन जाये यानि हमने कुछ भी माँगा और मिल गया तो ये Product अच्छा है वरना हम किसी नए प्रोडक्ट को तलाशने लगते हैं या कह उठते हैं कि कलयुग है, कोई ईश्वर नहीं होता.


वैसे भी आज के संतों के कारनामों से तो ईश्वर ख़ुद भी चमत्कृत और हैरान हो जाते होंगे?

लेकिन ईश्वर अनुभूति को सिचुएशन Algorithm से भारत के प्राचीन संतों ने समय-समय पर Prove किया है. कई सरल और सच्चे संत-महात्माओं ने भारत की धरती पर अपनी सेवाएं दी हैं. और अपने अनूठे चमत्कारों से समाज को सही रास्ता दिखाया है.

गुरु नानक 
गुरु नानक देव सिक्खों के आदि गुरु थे. इनके अनुयायी इन्हें गुरुनानक, बाबा नानक और नानक शाह के नामों से बुलाते हैं. कहा जाता है कि बचपन से ही वे विचित्र थे. नेत्र बंद करके आत्म चिंतन में मग्न हो जाते थे. उनके इस हाव भाव को देखकर उनके पिता बड़े चिंतित रहते थे. आगे चलकर गुरु नानक देव बहुत प्रसिद्ध संत हुए.
एक बार गुरु नानक देव जी मक्का गए थे. काफी थक जाने के बाद वह मक्का में मुस्लिमों का प्रसिद्ध पूज्य स्थान काबा में रुक गए. रात को सोते समय उनका पैर काबा के तरफ था. यह देख वहां का एक मौलवी गुरु नानक के ऊपर गुस्सा हो गया. उसने उनके पैर को घसीट कर दूसरी तरफ कर दिये. इसके बाद जो हुआ वह हैरान कर देने वाला था. हुआ यह था कि अब जिस तरफ गुरु नानक के पैर होते, काबा उसी तरफ नजर आने लगता. इसे चमत्कार माना गया और लोग गुरु नानक जी के चरणों पर गिर पड़े.

रामकृष्ण परमहंस
राम कृष्ण परम हंस भारत के महान संत थे. राम कृष्ण परमहंस ने हमेशा से सभी धर्मों कि एकता पर जोर दिया था. बचपन से ही उन्हें भगवान के प्रति बड़ी श्रद्धा थी. उन्हें विश्वास था कि भगवान उन्हें एक दिन जरूर दर्शन देंगे. ईश्वर को प्राप्त करने के लिए उन्होंने कठिन साधना और भक्ति का जीवन बिताया था. जिसके फलस्वररूप माता काली ने उन्हें साक्षात् दर्शन दिया था. 
कहा जाता है कि उनकी ईश्वर भक्ति से उनके विरोधी हमेशा जलते थे. उन्हें नीचा दिखाने कि हमेशा सोचते थे. एक बार कुछ विरोधियों ने 10 -15 वेश्याओं के साथ रामकृष्ण को एक कमरे में बंद कर दिया था. रामकृष्ण उन सभी को मां आनंदमयी की जय कहकर समाधि लगाकर बैठ गए. चमत्कार ऐसे हुआ कि वे सभी वेश्याएं भक्ति भाव से प्रेरित होकर अपने इस कार्य से बहुत शर्मसार हो गई और राम कृष्ण से माफी मांगी. इसके अतिरिक्त, रामकृष्ण परमहंस की कृपा से माँ काली और स्वामी विवेकानंद का साक्षात्कार होना समूचे विश्व को पता ही है.

संत नामदेव
संत नामदेव एक प्रसिद्ध संत थे. उन्होंने  मराठी के साथ हिन्दी में भी अनेक रचनाएं की. उन्होंने लोगों के बीच ईश्वर भक्ति का ज्ञान बांटा. उनका एक किस्सा बहुत चर्चित है.
एक बार वह संत ज्ञानेश्वर के साथ तीर्थयात्रा पर नागनाथ पहुंचे थे, जहां उन्होंने भजन-कीर्तन का मन बनाया तो उनके विरोधियों ने उन्हें कीर्तन करने से रोक दिया. विरोधियों ने नामदेव से कहा अगर तुम्हें भजन-कीर्तन करना है तो मंदिर के पीछे जाकर करो. इस पर नामदेव मंदिर के पीछे चले गये. माना जाता है कि उनके कीर्तनों की आवाज सुनकर भगवान शिव शंकर ने प्रसन्न होकर उन्हें दर्शन देने आ गये थे. इसके बाद से नामदेव के चमत्कारी संत के रुप में ख्याति मिली.

संत एकनाथ
संत एकनाथ महाराष्ट्र के प्रसिद्ध संतो में से एक माने जाते हैं. महाराष्ट्र में इनके भक्तों की संख्या बहुत अधिक है. भक्तों में नामदेव के बाद एकनाथ का ही नाम लिया जाता है. ब्राह्मण जाति के होने के बावजूद इन्होंने जाति प्रथा के खिलाफ अपनी आवाज तेज की. समाज के लिए उनकी सक्रियता ने उन्हें उस वक्त के सन्यासियों का आदर्श बना दिया था. दूर-दूर से लोग उनसे लोग मिलने आया करते थे.
एक बार एकनाथ जी को मानने वाले एक सन्यासी को रास्ते में एक मरा हुआ गथा मिलता है, जिसे देखकर वह उसे दण्डवत् प्रणाम करते हैं और कहते हैं ‘तू परमात्मा है’. उनके इतना कहने से वह गधा जीवित हो जाता है. इस घटना की खबर जब लोगों में फैलती है, तो वह उस संत को चमत्कारी समझकर परेशान करने लगते हैं. ऐसे में सन्यासी संत एकनाथ जी के पास पहुंचता है और सारी बात बताता है. इस पर संत एकनाथ उत्तर देते हुए कहते हैं, “जब आप परमात्मा में लीन हो जाते है तब ऐसा ही कुछ होता है”. माना जाता है कि इस चमत्कार के पीछे संत एकनाथ ही थे.

सन्त ज्ञानेश्वर
संत ज्ञानेश्वर कि गिनती महाराष्ट्र के उन धार्मिक संतो में होती हैं, जिन्होंने समस्त मानव जाति को ईर्ष्या द्वेष और प्रतिरोध से दूर रहने का शिक्षा दी थी. संत ज्ञानेश्वर ने 15 वर्ष की छोटी सी आयु में ही गीता की मराठी में ज्ञानेश्वरी नामक भाष्य की रचना कर दी थी. इन्होंने पूरे महाराष्ट्र में घूम घूम कर लोगों को भक्ति का ज्ञान दिया था.
उनके बारे में कहा जाता है कि उनका इस धरती पर जन्म लेना किसी चमत्कार से कम नहीं था. उनके पिता उनकी मां रुक्मिणी को छोड़कर सन्यासी बन गए थे. ऐसे में एक दिन रामानन्द नाम के सन्त उनके आलंदी गांव आये और उन्होंने रुक्मिणी को पुत्रवती भव का आशीर्वाद दे दिया. जिसके बाद ही इनके पिता ने गुरु के कहने पर गृहस्थ जीवन में प्रवेश किया और संत ज्ञानेश्वर का जन्म हुआ.

समर्थ स्वामी
समर्थ स्वामी जी का जन्म गोदातट के निकट जालना जिले के गावं जांब में हुआ था. अल्पायु में ही उनके पिता गुजर गए और तब से उनके दिमाग में वैऱाग्य घूमने लगा था. हालांकि, मां की जिद के कारण उन्हें शादी के लिए तैयार होना पड़ा था. पर, मौके पर वह मंडप तक नहीं पहुंचे और वैराग्य ले लिया.
समर्थ स्वामी के बारे में कहा जाता है कि एक शव यात्रा के दौरान जब एक विधवा रोती-रोती उनके चरणो में गिर गई थी, तो उन्होंने ध्यान मग्न होने के कारण उसे पुत्रवती भव का आशीर्वाद दे दिया था. इतना सुनकर विधवा और फूट-फूट कर रोने लगी. रोते हुए वह बोली- मैं विधवा हो गई हूं और मेरे पति की अर्थी जा रही है. स्वामी इस पर कुछ नहीं बोले और कुछ देर बाद जैसे ही उसके पति की लाश को आगे लाया गया, उसमें जान आ गई. यह देख सबकी आंखे खुली की खुली रह गई. सभी इसे समर्थ स्वामी का चमत्कार बता रहे थे.

देवरहा बाबा
देवरहा बाबा उत्तर भारत के एक प्रसिद्ध संत थे. कहा जाता है कि हिमालय में कई वर्षों तक वे अज्ञात रूप में रहकर साधना किया करते थे. हिमालय से आने के बाद वे उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में सरयू नदी के किनारे एक मचान पर अपना डेरा डाल कर धर्म-कर्म करने लगे, जिस कारण उनका नाम देवरहा बाबा पड़ गया. उनका जन्म अज्ञात माना जाता है. कहा जाता है कि-
एक बार महावीर प्रसाद ‘बाबा’ के दर्शन करके वापस लौट रहे थे, तभी उनके साले के बेटे को सांप ने डंस लिया. चूंकि सांप जहरीला था, इसलिए देखते ही देखते विष पूरे शरीर में फ़ैल गया. किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या करें, इसलिए वह उसे उठाकर देवरहा बाबा के पास ले आये. बाबा ने बालक को कांटने वाले सांप को पुकारते हुए कहा तुमने क्यों काटा इसको, तो सांप ने उत्तर देते हुए कहा इसने मेरे शरीर पर पैर रखा था. बाबा ने इस पर उसे तुरंत ही कड़े स्वर में आदेश दिया कि विष खींच ले और आश्चर्यजनक रूप से सांप ने विष खींच लिया. बाबा के इस चमत्कार की चर्चा चारों ओर फैल गई.

संत जलाराम
बापा के नाम से प्रसिद्ध जलाराम गुजरात के प्रसिद्ध संतो में से एक थे. उनका जन्म गुजरात के राजकोट जिले के वीरपुर गांव में हुआ था. जलाराम की मां एक धार्मिक महिला थीं, जो भगवान की भक्ति के साथ साथ साधु संतो का बड़ा आदर करती थी. उनके इस कार्य से प्रसन्न संत रघुदास जी उन्हें आशीर्वाद दिया कि उनका दूसरा पुत्र ईश्वर भक्ति और सेवा के लिए ही जाना जायेगा. आगे चलकर जलाराम बापा गुजरात के बहुत प्रसिद्ध संत हुए.
एक दिन बापा के भक्त काया रैयानी के पुत्र मृत्यु हो गई. पूरा परिवार शोक में डूबा था. इस बीच बापा भी वहां पहुंच गये, उनको देखकर काया रैयानी उनके पैरों में गिर गया और रोने लगा. बापा ने उसके सर पर हाथ रखते हुए कहा तुम शांत हो जाओ. तुम्हारे बेटे को कुछ नहीं हुआ है. उन्होंने कहा चेहरे पर से कपड़ा हटा दो. जैसे ही कपड़ा हटाया गया बापा ने कहा बेटा तुम गुमसुम सोये हुए हो, जरा आंख खोल कर मेरी ओर देखो. इसके बाद चमत्कार हो गया. क्षण भर में मृत पड़ा लड़का आंख मलते हुए उठ कर इस तरह बैठ गया, मानो गहरी नींद से जागा हो.

रामदेव
राम देव का जन्म पश्चिमी राजस्थान के पोकरण नाम के प्रसिद्ध नगर के पास रुणिचा नामक स्थान में हुआ था. इन्होंने समाज में फैले अत्याचार भेदभाव और छुआ छूत का विरोध किया था. बाबा राम देव को हिन्दू मुस्लिम एकता का भी प्रतीक माना जाता है. आज राजस्थान में इन्हें लोग भगवान से कम नहीं मानते हैं. इनसे जुड़ा हुआ एक किस्सा कुछ ऐसा है.
मेवाड़ के एक गांव में एक महाजन रहता था. उसकी कोई संतान नहीं थी. वह राम देव की पूजा करने लगा और उसने मन्नत मांगी कि पुत्र होने पर मैं मंदिर बनवाऊंगा. कुछ दिन के बाद उसको पुत्र की प्राप्ति हुई. जब वह बाबा के दर्शन करने जाने लगा तो रास्ते में उसे लुटेरे मिले और उसका सब कुछ लूट लिया. यहां तक कि सेठ की गर्दन भी काट दी. घटना की जानकारी पाकर सेठानी रोते हुए रामदेव को पुकारने लगी, इतने में वहां रामदेव जी प्रकट हो गए और उस महाजन का सर जोड़ दिए. उनका चमत्कार देख कर दोनों उनके चरणों में गिर पड़े.

सारांश:
तकलीफें कितनी भी हों, लेकिन मानवता वास्तव में जाति और धर्म से भी बड़ा धर्म है. सच्चे मन से की गई सेवा जीवन को सफल बना देती है.

Apr 1, 2018

जो अपनी बीवी के खर्चे से ज्यादा कमा सके....

महान लोगों के Laughing Quotes
हमेशा एक निराशावादी से पैसे उधार लो. वह इसके वापस आने की उम्मीद नहीं करेगा. - ऑस्कर वाइल्ड


पहले डॉक्टर ने मुझे अच्छी खबर दी: मेरे नाम पे एक बीमारी का नाम रखा जाने वाला है. - स्टीव मार्टिन

एक सफल आदमी वो है जो अपनी बीवी के खर्चे से ज्यादा कमा सके. एक सफल औरत वो होती है जो ऐसा आदमी खोज सके. - लाना टर्नर

टमाटर एक फल है ये जानना ज्ञान है; उसे फ्रूट सलाद में ना डालना बुद्धिमत्ता है. - माइल्स किंग्टन

मुझे डेड्लाइन्स पसंद हैं. उनके निकलते समय आने वाली वुशशश.. की आवाज़ मुझे अच्छी लगती है. - डगलस एडम्स

कुछ भी हो जाए शादी करो. अगर तुम्हे अच्छी पत्नी मिलती है, तुम खुश हो जाओगे. अगर तुम्हे खराब पत्नी मिलती है, तुम एक दार्शनिक बन जाओगे. - सुकरात

झूठ बोलने का सबसे अच्छा तरीका है कि सच बोल दो. सावधानी से बनाया गया सच. - Anonymous

किसी मूर्ख के साथ बहस मत करो. वो तुम्हे अपने स्तर तक गिरा देगा और तुम्हे अपने अनुभव से पीटेगा. - ग्रेग किंग

अगर आप एक लेखक से चुराते हैं तो ये साहित्यिक चोरी है; अगर कई से चुराते हैं तो ये अनुसंधान है. - विल्सन मिज़नर

अगर आपको ये लगता है कि किसी को इसकी चिंता नहीं कि आप ज़िंदा भी हैं  तो बस कार की कुछ किश्तें जमा ना करिये. - फ्लिप विल्सन

कुछ  लोग  जहाँ  जाते  हैं,  वहां  खुशियाँ  लाते  हैं. कुछ  लोग  जब  जाते  हैं,  तब  खुशियाँ  लाते  हैं. - आस्कर  वाइल्ड

मैं तुम्हारे ब्रेक्स नहीं बना सकता, इसलिए मैंने तुम्हारे हॉर्न को जोरदार बना दिया है. - स्टीवन राइट

बच्चे: आप उनकी ज़िन्दगी के पहले दो सालों में उन्हें चलना और बोलना सिखाते हैं. फिर आप अगले 16 साल उन्हें बैठे रहने और मुंह बंद रखने के लिए कहने में गुजारते हैं. - Anonymous

जब तक आदमी को एहसास होता है कि उसके पिता सही थे, उसका एक बेटा होता है जो सोचता है कि वह गलत है. - चार्ल्स वैड्सवर्थ

ये सच है कि कड़ी मेहनत से कभी कोई मरा नहीं. लेकिन मुझे लगता है, चांस लेने की क्या ज़रुरत है. - रोनाल्ड रीगन

ईमानदारी से रोज 8 घंटे काम करने से आप आखिरकार बॉस बन सकते हो और रोज 12 घंटे काम कर सकते हो. - रॉबर्ट फॉस्ट

बैंक एक ऐसी जगह है जहाँ आपको तब पैसा मिल जायेगा जब आप ये साबित कर दें किआपको इसकी ज़रुरत नहीं है. - बौब होप

मैं ऑफिस हमेशा देर से पहुँचता हूँ पर मैं इसकी कसर जल्दी निकल कर पूरी कर देता हूँ. - चार्ल्स लैम्ब

हमेशा दुसरे लोगों की अंत्येष्टि में जाओ, अन्यथा वे तुम्हारी में नहीं आयेंगे. - योगी बेरा

वह जो फर्श पर सोता है, बेड से गिरता नहीं है. - रोबर्ट ग्रोनोक

अनिद्रा का सबसे अच्छा उपचार है खूब सोना. - डब्लू. सी फ़ील्ड्स

सिर्फ ऐसा नहीं है कि भगवान नहीं हैं. रविवार को प्लम्बर खोजने का प्रयास करो. - वुडी ऐलेन

मैं अपने ब्रेड पर बटर भी नहीं लगाती; मैं उसे कुकिंग मानती हूँ. - कैथरीन सेबरियन

ये मायने नहीं रखता कि तुम हारते हो या जीतते हो; जो मायने रखता है वो ये कि मैं हारता हूँ या जीतता हूँ. - डेरिन वेनबर्ग

गलती करना मानवीय है, इसका किसी और पर आरोप लगाना आपकी प्रबंधन क्षमता दर्शाता है. - Anonymous

समय का पाबन्द होने के साथ ये समस्या है कि इसकी तारीफ करने के लिए कोई नहीं होता. - फ्रैंकलिन पी. जोंस

मेरी शादी होने से पहले, बच्चों कि परवरिश करने से सम्बंधित मेरे 6 सिद्धांत थे. अब मेरे 6 बच्चे हैं और कोई सिद्धांत नहीं है. - जॉन विल्मोट

किसी व्यक्ति से कहिये ब्रह्माण्ड में 300 बिलियन तारे हैं और वो यकीन कर लेगा. उससे कहिये कि बेंच पर लगा पेंट गीला है और वो उसे छू कर निश्चित करेगा. - मर्फी’ज लॉ

कंजूसों के साथ जीने में मजा नहीं है, लेकिन वे शानदार पूर्वज होते हैं. - डेविड ब्रेनर

दुकान में ब्रेड लेने के लिए घुसने और सिर्फ ब्रेड ले कर निकलने की सम्भावना 3 बिलियन में 1 की है. - एर्मा बॉम्बेक

मैंने अपनी पत्नी से सच कह दिया. मैंने उससे कहा कि मैं एक मनोचिकित्सक से मिलता हूँ. तब उसने भी सच्चाई बता दी कि वो एक मनोचिकित्सक, दो प्लम्बर्स, और एक बारटेंडर से मिलती है. - रोडनी डेंजरफील्ड

मुझे काम पसंद है; ये मुझे मोहित करता है. मैं बैठ कर इसे घंटों देख सकता हूँ. - जेरोम के. जेरोम