Nov 15, 2018

धरती पर घुटने टेकने और उसे चूमने के हज़ारों तरीके हैं.






धरती पर लाइफ़ आई तो जीव आए. जीवों के बायोलॉजिकल डेवलपमेंट की मदद से कुछ सालों बाद आदमी भी आ गया. 

आदमी समझदार था क्योंकि उसे लगा कि सिर्फ़ वो ही सोच सकता है और बाकी जीवों से ज्यादा प्रैक्टिकल और सक्सेसफुल हो सकता है, दुनिया में + या – करने की ताकत उसी में है. सही भी रहा. आज भी सही है. सभी आदमी सही हो गए. नेचर ने चुप्पी साध ली. आगे देखते हैं कि क्या शानदार करने वाला है आदमी.

फ़िलहाल कुछ बेहतरीन थॉट्स जो समय समय पर अनेक महान लोगों ने दुनिया के साथ शेयर किए और सबकी लाइफ़ में अच्छे बदलाव लाए.

आइए. एक नज़र उन थॉट्स पर.


झूठी लड़ाई लड़ने में कोई सच्ची वीरता नहीं होती.

इंसान का करैक्टर उसके विचारों से बनता है.

लोग और बेहतर तरीके से काम तब और जल्दी करते हैं जब उन्हें पता होता हैं कि लक्ष्य क्या और क्यों है?

लम्बे समय तक नाराज़ रहने के लिए ज़िन्दगी बहुत छोटी है.

मैं एक बच्चे के रूप में बस कुछ सवाल पूछता हूँ. 

लक्ष्‍मी को पाना है तो या तो आपको उल्‍लू बनना होगा या फ़िर भगवान विष्‍णु. क्योंकि माता लक्ष्‍मी केवल इन्‍हीं दोनों के पास ही रहती है. 1 की वो सवारी करती हैं और 1 की सेवा. जितने % तक उल्‍लू या विष्‍णु के गुण आप के भीतर होंगे, उतने ही % तक माँ लक्ष्‍मी आप के पास रहेगी. ये सिंपल मैथमेटिक्स है.

नाम में क्या रखा है? अगर हम गुलाब के फूल को किसी और नाम से पुकारें तो भी वो वैसी ही खुशबू देगा जैसी उसकी खुशबू हैं. है के नहीं?


खाली बर्तन ही सबसे सबसे ज्यादा शोर मचाते हैं. फ़िर चाहे वो घर के अंदर हों या बाहर की दुनिया में. उस संगीत का आनंद लीजिए.

एक मूर्ख व्यक्ति अपने आपको बुद्धिमान समझता है, लेकिन एक बुद्धिमान व्यक्ति खुद को मूर्ख समझता है.

पढ़ने के विरुद्ध जो तर्क देता है, समझो, वह कितने अच्छे से पढ़ा हुआ है.

धीमे स्वर में बोलो, अगर प्यार के विषय में बोल रहे हो तो.

सबसे बढ़कर ये ज़रूरी होता है कि हम खुद से अपने आप में सही रहे.

जब हम जन्म लेते हैं तब हम रोते हैं कि क्योंकि हम मूर्खों के इस विशाल मंच पर आ गए. फ्रेश मूर्ख.

जैसा कर सकते हो, वैसा ही बोलो और जैसा बोलो तो वैसा ही करो. बी ओरिजिनल.

हमारे जीवन में कुछ भी अच्छा या बुरा नहीं होता,  बस उसे हमारी सोच बनाती है.

ये हम अच्छे से जानते हैं कि हम क्या हैं, लेकिन यह नहीं कि हम क्या हो सकते हैं?

जब इंसान के जीवन में दुःख आता है तो वह अकेले नहीं आता, बल्कि पूरी फ़ौज के साथ आता है.

संदेह यानी डाउट हमेशा कसूरवार को सताता रहता है.

किसी काम को करने के लिए थोड़ी-बहुत गलतियाँ भी करिए. जो कुछ भी नहीं करेगा, वो कोई गलती ही नहीं करेगा. इट्स 100% प्योर फेलियर. क्या ये सच नहीं है? गलती ना करना असफ़ल हो जाने जैसा है. आप क्या होना चाहेंगे? सक्सेसफुल या फेलियर?

जब एक पिता अपने बेटे को कुछ देता है तो दोनों हँसते हैं, लेकिन जब एक बेटा अपने पिता को कुछ देता है तो दोनों रोते हैं. 

समय के साथ जिससे हम अक्सर डरने लगते हैं उससे हम नफरत करने लगते हैं.

वे लोग प्रसन्न हैं जो अपने ऊपर लगे कलंक को जानकर उस कलंक को मिटाने में लग जाते हैं.

1 मिनट देर से आने से अच्छा है कि आप 3 घंटे पहले आ जाएं.

इंसान का रोना दुःख की गहराई को कम कर देता है.

जिस तरीके से तुम अपने विचारों में महान रहे हो, उसी तरह अपने कर्मों में भी महान बनो.

"एक पुरानी कहावत है" जो हम सब पर भी लागू होती है. जो खेल आप खेल ही नहीं रहे हैं, उसमें आप हार ही नहीं सकते.


इंसान के लिए मौत एक भयानक चीज है. मगर एकमात्र सच भी तो ये ही है.

जिस तरह मछलियाँ पानी में रहती हैं और अपनी भूख मिटने के लिए छोटी मछलियों को खा जाती हैं, उसी तरह इंसान जमीन पर रहता है और बड़े लोग छोटे लोगों को खा जाते हैं.

आप सभी लोगों की सुनें लेकिन अपनी बात कुछ ही लोगों से कहें.


प्यार करने वाले अंतिम रूप से कहीं मिलते नहीं. वे हमेशा एक दूसरे में ही रहते हैं.

धरती पर घुटने टेकने और उसे चूमने के हज़ारों तरीके हैं.

दुखी मत हो, जो कुछ भी तुमने खोया है, वह दोबारा लौटकर तुम्हारे पास ही आ जायेगा, किसी न किसी दूसरे रूप में.

आप जिस किसी से भी प्यार करते हो, उसकी ख़ूबसूरती को अपने काम में भी झलकने दो.


हर एक इंसान किसी ना किसी एक खास काम के लिए बनाया गया है और उस काम को भी करने की इच्छा उसके मन के अन्दर भर दी गयी है. ये अद्भुत है.

यदि आप हर रगड़ से चिढ़ते हो तो आपको पॉलिश कैसे किया जाएगा?

ईश्वर द्वारा जो कुछ भी सुन्दर, अच्छा, और खुबसूरत बनाया गया है वह केवल उसी के लिए होता है जो उन्हें करीब से देख पाता है.

आप दुनियादारी से इतने प्रभावित किसलिए हो? जबकि जानते हो कि सोने की खान तो आपके भीतर ही मौजूद है?

जब भी कोई एक गलीचे को पीटता है तो वह प्रहार गलीचा के खिलाफ़ नहीं होता है. वह प्रहार तो केवल धूल के खिलाफ़ होता है.

अगर हम हर वो चीज कर दें, जो हम सोचते हैं कि हम नहीं कर सकते हैं, तो सचमुच हम खुद को आश्चर्यचकित कर देंगे.

सच में प्रकृति अदभुत है. बेईमान तो केवल मनुष्य है.

मैं असफल नहीं हुआ हूँ, बल्कि मैंने बस 10,000 ऐसे तरीके खोज लिए हैं जो काम नहीं करते हैं.

व्यस्त होने का मतलब हकीकत में हमेशा काम करना ही नहीं होता.

अपनी जिंदगी में मैंने एक भी दिन काम नहीं किया. यह सब तो मनोरंजक खेल था.

आप जो भी हैं वो आपके काम में दिखेगा. आपको अलग से कुछ बताने की जरुरत नहीं.

प्रकृति जल्दबाजी नहीं करती, फिर भी सारी चीजें पूरी हो जाती हैं.

Nov 12, 2018

पिता जी कहा करते थे - सुनो. फ़िर 1283 गोल और ढ़ेर सारा प्यार.






ये बड़ा interesting होता है जानना कि आखिर महान और संघर्षशील लोग क्या सोचते हैं? क्या जीते हैं? कैसे जीते हैं? कैसे आस-पास के माहौल को बदल देते हैं? क्या अलग करते हैं? आखिर उनका दुनिया में आना क्या indicate करता है?

ऐसी ही एक पर्सनालिटी है दुनिया के “ब्लैक पर्ल” और फुटबॉल के किंग कहे जाने वाले ब्राज़ील के जादूगर पेले.
जन्म: 21 अक्टूबर 1940
नाम: एडसन  अरंट्स डू नसीमेंटो 
फेमस नाम: पेले

क्यों फेमस हुए: कमाल की फुटबॉल खेलकर. गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड होल्डर और 3 वर्ल्ड कप जीतने वाले एकमात्र खिलाड़ी (1970, 1962 और 1958)


पेले के शानदार कोट्स. आपके लिए एक नज़र.

Quote
खेल कुछ ऐसा है जो youth के लिए बेहद inspiring है.


Quote
ब्राज़ील फुटबॉल खाता, सोता और पीता है. यह फुटबॉल को जीता है.


Quote
बहुत से लोग सोचते हैं कि जो बहुत सारे goal करता है, “वह एक महान खिलाड़ी है” क्योंकि goal बहुत ज़रूरी है. लेकिन एक महान खिलाड़ी वो है जो मैदान में हर एक चीज कर सके. वह साथी खिलाड़ियों की help कर सके, उनका हौंसला बढ़ा सके, उनके अंदर आगे बढ़ने का confidence दे सके. वो कोई ऐसा होता है जो टीम के अच्छा ना करने पर भी उसका leader बन सके. ये ही महानता के लक्षण हैं.


Quote
हमेशा से मेरी एक फिलोसोफी रही है जो मुझे मेरे पिता से मिली थी. वो कहा करते थे, सुनो - भगवान ने तुम्हें फुटबॉल खेलने का gift दिया है. ये भगवान की तरफ से तुम्हारा gift है कि अगर तुम अपनी health का ध्यान रखो, अगर तुम हमेशा अच्छे shape में रहो तो भगवान के उपहार के साथ कोई तुम्हें रोक नहीं पायेगा, लेकिन तुम्हें prepare रहना होगा.


Quote
उत्साह सबकुछ है. ये गिटार के तार की तरह कसा और vibrate करता हुआ होना चाहिए.


Quote
आप जहां भी जाएं, 3 symbol हैं जिन्हें हर कोई जानता है : यीशु, पेले और coca-cola.


Quote
अगर मैं एक दिन मर जाऊं तो मैं ख़ुशी से जाऊँगा क्योंकि मैंने अपना best करने की कोशिश की. मेरे खेल ने मुझे ऐसा करने दिया क्योंकि ये दुनिया का सबसे बड़ा खेल है.


Quote
इस पृथ्वी पर हर एक चीज बस एक खेल है. एक खत्म हो जाने वाली चीज. हम सभी एक दिन मर जाते हैं. हम सभी का एक ही अंत है. है के नहीं?


Quote
bicycle किक करना बिलकुल आसान नहीं है. मैंने 1283 गोल दागे और केवल 2 या 3 ही bicycle किक्स थे. कमाल है.


Quote
practice ही सबकुछ है.


Quote
पेनाल्टी, goal करने का कायरतापूर्ण तरीका है. ऐसा मुझे लगता है.


Quote
मुझे नहीं लगता कि मैं एक बहुत अच्छा businessman हूं क्योंकि मैं बहुत अधिक अपने दिल से काम करता हूं.


Quote
आपको लोगों का सम्मान करना चाहिए और shape में रहने के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए. मैं बहुत मेहनत से training लिया करता था. जब दूसरे खिलाड़ी training के बाद बीच पर चले जाया करते थे, तब भी मैं वहां बॉल किक किया करता था.


Quote
मैं पूरी दुनिया में Brazil का प्रतिनिधित्त्व करता हूं. मैं जहाँ भी जाता हूं, मुझे अपना best देना होता है ताकि मैं मेरे देश के लोगों को निराश ना करूं. मैंने ये ही किया है.


Quote
मुझसे लगातार व्यक्ति विशेष के बारे में पूछा जाता है. जीतने का एक ही तरीका है कि एक team के रूप में जीतो. फुटबॉल 1, 2 या 3 star खिलाड़ियों के बारे में नहीं है.


Quote
मैं हमेशा सोचता हूँ की अगर मैं एक फुटबॉल player नहीं होता तो एक actor बन जाता.


Quote
मैं कभी-कभी रात में लेटे-लेटे सोचता हूं कि मैं अभी भी इतना फेमस क्यों हूं? और honestly कहूं तो मुझे नहीं पता.


Quote
इसमें कोई शक नहीं कि मैंने कभी जितना पैसा फुटबॉल खेल के नहीं कमाया, उससे कहीं अधिक विज्ञापन कर के कमा रहा हूं.


Quote
पेले मरता नहीं है. पेले कभी नहीं मरेगा. पेले हमेशा-हमेशा के लिए रहेगा. आप सब की यादों में.

Nov 11, 2018

दुनिया के 95% लोग कुछ देर के लिए भी Comfortably क्यों नहीं बैठ पाते?




योग का meaning है मिलना यानी addition. मतलब हर चीज़ आपके अनुभव में एक हो गई.

आज जो आदमी बन के आपके सामने खड़ा है, वह कल मिट्टी हो जाएगा. आप भी उसी Process से गुजरेंगे. हर किसी को ऐसा ही होना होगा. धरती के अंश को अपनी मां के स्वरुप में मिल ही जाना होगा. 

फ़िर नयी shape, नया सृजन होगा. ये series ही चलती है. चलेगी. अगर आप आज ही ये समझ लें तो ये योग कहलाता है और आप योगी. लाइफ़ के last step पर यानी अंत में ये समझ आये तो इसे अंतिम संस्कार कहा जाता है. यह अनुभूति आपको अभी हो जाए तो आप विस्तृत हो गए. जुड़ गए अपनी जड़ों से. पहचान गए ख़ुद को. नहीं तो अंत तक आपको इसका wait करना है.

वास्तव में हम सभी ब्रह्मांड के जैविक process के semi – प्रोडक्ट्स हैं. सबके भले के लिए ये जानना बड़ी अहम सोच है. इसे जोड़ने की जरुरत है. ये ही योग है. सहयोग है. जीवनयोग है. unityness है.

अगर आप यह नहीं जान पा रहें हैं कि सहज रुप से जीवन के एक अंश के रूप में कैसे रहा जाए तो ये एक विकृत जीवन जीने का संकेत है. 

आज कम से कम 95% लोगों को यह दिक्कत आ रही है कि वह सहजता से या comfortably एक जगह नहीं बैठ पाते. उन्हें हर वक्त कुछ न कुछ करने के लिए चाहिए होता है. उनको ख़ुद को busy रखना है.

क्यों? क्योंकि हर आदमी को लगता है कि उसका vision क्लियर है कि वह क्या करना चाहता है? लेकिन ऐसा रियलिटी में नहीं होता. ये सच नहीं है. असली कहानी ये है कि वे लोग मजबूर हैं क्योंकि कुछ किए बिना वो अब रह ही नहीं सकते. उनको लगता है कि अगर वे एक जगह बिना कुछ किए कुछ देर बैठे रह गए तो वे पागल हो जाएंगे या पागल करार दे दिए जायेंगे. ये जो इतनी fast लाइफ़ चल रही है. ये ख़ुशी से नहीं चल रही. ये डर से, मज़बूरी से चल रही है कि कहीं हम पीछे ना रह जाएं? सवाल है किससे पीछे? कितना पीछे? किस एंगल से पीछे? लाइफ़ तो ख़ुद ही इतना relaxing process है. फ़िर ये आपको किसी के आगे-पीछे क्यों दौड़ायेगी? सोचिये? ख़ुद को थोड़ा समय दीजिए. आराम कीजिये.

और योग यहां आपके लिए सही दिशा तय करने में मदद करता है. ये आपको सचेतन या अचेतन process के बारे में जागरूक करता है. सचेतना ok है लेकिन अचेतना मजबूर बना डालती है. 

अभी ज्यादातर लोग अचेतना को फॉलो करते हुए दौड़ – भाग में व्यस्त हैं. वो सही या गलत चुनने के logical प्लेटफोर्म पर ट्रेन को पकड़ने की try कर रहें हैं. सचेतना कहती है कि इस सिलेक्शन थ्योरी को मत पकड़ो. अस्तित्व के साथ एक हो जाओ. योग भी ये ही बताने की कोशिश करता है. आप जहां हो वहां सचेतन रहो, अचेतन नहीं. फ़िर सब काम ठीक से हो सकेंगे. शांति से भी, सजगता से भी, विस्तार से भी और productive तरीके से भी.

योग आपको मिलाता है. मिलन का मतलब है कि अब आप कुछ चुन नहीं रहे हैं. चुनने का option ख़त्म. अब हर चीज आपके साथ यहीं मौजूद है, सचेतन रूप से. आप present में हो. actively इन present. अब बेवजह की भागदौड़ से मुक्ति है. परसेप्शन जीरो हो गए है. आप लाइफ़ के साथ, नेचर के साथ, ख़ुद के साथ आराम से हो. ये ही तो करना था.

लाइफ़ का पूरा process या उसकी quality इस बात पर depend नहीं करती कि आप क्या करते हैं और क्या नहीं करते? या आपके पास क्या है और क्या नहीं है? बल्कि ये इस बात पर depend करती है कि आपने लाइफ़ को कैसे संभाला है? सचेतन रूप से या अचेतन रूप से.

अगर आपने अपनी लाइफ को वैसे ही accept कर लिया है, जैसी वो है तो आपकी उससे दोस्ती और मजबूत होने जा रही है. अब आपको नए आयाम ख़ुद ब ख़ुद मिलेंगे. देखते रहिए.

क्रेडिट : hindi.speakingtree.in