Jan 1, 2019

ऐसा ही करना, बीत जाने से पहले.







ऐसा करो
आज तुम अपनी पसंद का एक बीज बो दो इस धरती पर.
कल तना निकलेगा.
परसों पत्ते जन्म लेंगे.
तरसों टहनियां
और
नरसों फूल खिल उठेंगे.

यात्रा चलती रहेगी.
पौधा पेड़ बनेगा.
फ़िर आएंगे मीठे फ़ल और ढेर सारी छाया भी.

इतने में तुम बड़े हो जाओगे.
पेड़ की तरह ख़ुद को मजबूत खड़ा पाओगे.

बस उस दिन,
किसी और की पसंद का एक बीज और बो देना.

उसकी ख़ुशी का, उसके सपनों का एक छोटा सा बीज.
तुम्हारी वजह से एक और जिंदगी जन्म लेगी. बड़ी होगी.

अब तुम्हारी यात्रा एक उत्सव होगी.
अब तुम नटराज हो गए.

ऐसा ही करना, बीत जाने से पहले.

2 फ़रवरी 2019
8.59 AM

No comments: