Apr 6, 2019

भिंडी की सब्जी खिलाने की क्या जरुरत थी.





“गर तुम नाराज थे तो बोल देते
भिंडी की सब्जी खिलाने की क्या जरुरत थी”

कभी- कभी कुछ ऐसे पल आते हैं
जब मैं पाता हूँ  
कि
वो नहीं देख पाया
जिसे महसूस कर लेना चाहिए था
और जो भी होता है
अक्सर हमेशा मुझसे बड़ा ही कुछ हो जाता है
और
फ़िर
आसमां की और देखते हुए
हँस पड़ता हूँ खुद पर
क्योंकि उस पल में मुझे
ख़ुद को बेवकूफ समझने में
बड़ा मज़ा आता है

और 

फ़िर हर तरफ़ मुस्कान बिखर जाती है
माहौल बदल जाता है
मैं जीरो हो जाता हूँ
और हर कोई मुझसे बड़ा.


ऐसा पहले
दिन में अक्सर होता था
और अब
ये आदत बन गयी है
अच्छा भी लगता है
इस सच को समझ लेना कि
मैं इस अस्तित्व की एक छोटी सी बूंद हूँ.


अब घर और बाहर में फ़र्क नहीं करना पड़ता
सब एक जैसा रहता है
ये शानदार है
एक जैसा एक तरफ़ा हो जाना.


जो भी हो ये असली होने जैसा फ़ील देता है
और दिल बच्चे सा धड़कता लगता है
वैसा ही समां और वैसी ही नीयत
ख़ुद को दूसरों से अलग करना मुश्किल हो जाता है
सब अपने ही लगते हैं
उल्टे सबमें ख़ुद को पाने जैसा लालच पैदा हो उठता है
और दिल कुछ खोना भी नहीं चाहता
कुछ होना भी नहीं चाहता.


और जब सब मुझसे वजूद में,
कद में और अनुभव में बड़े दिखाई देते हैं
तो इस बड़ी सी दुनिया में
हल्का होना आसान हो जाता है
किसी की नाराजगी भी अपनेपन की ताजगी देती है
इस छोटे से साँसों और भावों के सफ़र में
जीने का मज़ा लेना हो तो
एक बार
बस एक बार
बेवकूफ़ और बुद्धू
बनके तो देखिये
फ़िर हर समझदार तुम सा होना चाहेगा
क्योंकि
आपको लगता है
बस तभी
आप समझदार बनते हैं
ये दूसरों की नज़र से ख़ुद को देखने जैसा है


और
जीने के लिए
अपने भीतर मुस्कुराते हुए जीने के लिए
आपका बुद्धू होना काफ़ी है.

“आओ अब खाना खातें हैं
भिंडी टेस्टी बन पड़ी है”






चलते-चलते :

अगर आप इस धरती को ही स्वर्ग के रूप में देखना ही चाहते हैं तो आपको पहले ख़ुद को स्वर्ग में रहने लायक बनाना ही होगा. दूसरा कोई उपाय नहीं हैं. अपने, केवल अपने बारें में लगातार सोचते रह जाने की वजह से ही यहाँ नरक की सड़कें मजबूत हुई हैं. सबसे ज्यादा समझदार समझ लिए गए लोग ही सबसे ज्यादा लापरवाह और बेपरवाह पाए जातें हैं और नतीज़ा आपके सामने हैं.

अब प्रेम, इंसानियत और आनंद के समय को आना ही चाहिए. आप भी इसमें अपनी ज़िम्मेदारी और हिस्सेदारी डालिए.
फ़िर देखिये, शायद जीवन ख़िल उठे?


06 April 2019
07.43 AM
Image Source: Google





No comments: