Mar 19, 2019

ये उनके दूरदर्शी होने की इंतिहा थी.





ये एक जादू-भरी झप्पी पाने जैसा है.
वो हमेशा मेरे लिए रहीं
आज भी उतनी ही हैं
न कम और न ज्यादा
बस कम्पलीट
जितनी होती है एक माँ.


उनसे बातें करना मुझे खुश रखता था
उनकी बचपन की बातें
स्कूल - कॉलेज के दिन
उनकी शादी के किस्से और
फिर हमारा जन्म
सब कुछ सुनना कितना आत्मीय था
जैसे अभी अभी सब घटा हो
हमारे सामने.



वो मुझे उस कठिन समय के बारे में बताती थी जो वो पीछे छोड़कर आई.


वो पुराने समय की एक महान ग्रेजुएट थी
जिसने परिवार की मान्यताओं के सम्मान में अपनी आत्मा को स्वाहा किया
और
हमें बिना खिड़की, दरवाजों के घर में भी राजकुमारों की तरह पाला.


अपने समय की एक शानदार और जानदार महिला
सुंदर आँखें, सुंदर चेहरा, 
लिखना, गाना 
और भीतर से ताकतवर.


उन्हें रिश्तों में सीधे चलना पसंद था
पर रिश्तें हमेशा ही जलेबियों से घुमावदार पाए गए हैं  
और 
ये समझना उनके लिए कतई आसान नहीं रहा.


वो अपने रिश्तों की देखभाल करने में गर्व महसूस करती थी
और उनसे उतनी न्यूनतम उम्मीद भी रखती थी
जितनी इंसान होने के नाते रख लेने में कोई बुराई नहीं है.


उन्हें जो कुछ भी मिला
अच्छा या बुरा
उन्होंने हमसे केवल अच्छा ही साँझा किया  
शायद इसीलिए कि हम बड़े होकर किसी को कुछ दें तो केवल अच्छा दें
वरना चुप रहें
ये उनके दूरदर्शी होने की इंतिहा थी.


मैं उनके क़र्ज़ तले भी जिंदा महसूस करता हूँ
क्योंकि 
उन्होंने हमें सरल इंसान बनाने के लिए एक कठिन जिंदगी जी.


मुझे उनका अंश होने पर फक्र है
और मैं अपनी अंतिम सांस तक
उनका कर्ज़दार रहना पसंद करूँगा.


20 March 2019
Image Source: Google