Jan 30, 2020

नाम जो भी हो. है वायरस खतरनाक. बच के रहना रे बाबा.






जब भी कोई नई चीज़ आती है
तो इम्प्रेस करती है.
डरा भी सकती है
और अवेयर भी कर सकती है.

इन दिनों करॉना वायरस की धूम है.
कुछ ही दिनों में इसने पूरी दुनिया की
अटेंशन पा ली है.
वायरस ऐसा कि पल में, किसी को भी 
चित्त कर दे.

चूंकि हम साइलेंस को कम ही लाइक करते हैं
तो इसका “O” साइलेंट करे बिना इसे 
कोरोना नाम से भी
पोपुलर कर रहे हैं.
आप इसे किसी भी नाम से पुकारें
मगर अब तक इसने 200 लोगों से 
धरती को ख़ाली करवा दिया है.

ये वायरलेस मीडियम में भी अपना 
बेस बनाए रखता है
और छींक या जुकाम से भी दूसरों के 
दिल में जगह बना डालता है.

इसने अपने करियर की शुरुआत
इकॉनमी के लीजेंड माने जाने वाले 
चाइना से की है
और अब ये अपने वर्ल्ड-वाइड टूर पर है.
इससे डरना वाज़िब है पर
थोड़ा केयरफुल रह कर, आप इसे चुपचाप 
जाने दे सकते हैं.
इसके लिए आपको डॉक्टर्स की सलाह 
मान लेनी चाहिए.

जैसा कि अपडेट आ रहे हैं,
ये सांप या चमगादड़ जैसे जीवों या 
जानवरों से निकला हुआ प्रोडक्ट है.
ये इतना सेल्फ-डेवलपिंग है कि अगर 
किसी इंसान के भीतर चला जाए तो
आसानी से सर्वाइव कर लेता है. 
गज़ब का एडजस्टमेंट.

इसका एंटी-वायरस बनाना एक बड़ा 
चैलेंज है मेडिकल एक्सपर्ट्स के लिए.

चाइना में लोग, सांप और चमगादड़ जैसे 
जीवों को बड़े चाव से खाते हैं.
कहा जा रहा है कि ये वायरस 
इसी खान-पान की देन है.
ये ह्यूमन टू ह्यूमन ट्रेवल कर रहा है,
थ्रू सांस, हवा एंड नमी.
जो लोग  सी-फूड या कच्चा – अधपका मांस 
खाते हैं,
दे आर द मेन कम्युनिकेशन चैनल 
बिहाइंड द ग्रोथ ऑफ़ दिस फेनोमेना.

एनीवे,
इशू जब बढ़ जाता है
और टिश्यू पर अटैक कर देता है
तो आदमी घबराता है और उपाय तलाशता है.
कुछ ना कुछ अच्छा समाधान तो सामने 
आएगा ही.

प्रॉब्लम की नब्ज़ को एकबार पकड़ ली जाए
तो कम से कम दोबारा उससे लड़ना नहीं पड़ता.
आदमी वैसे भी अलर्ट ही रहता है.
बेवजह मरने की किसे जल्दी है?

इतने बड़े सोशल इशू में ये बात थोड़ा 
इंटरेस्ट पैदा करती है
कि आखिर इस वायरस का नाम 
करॉना क्यों पड़ा?
ये साइंटिफिक टच है.

सूर्य को जब ग्रहण लगता है
तो पृथ्वी सूर्य को पूरी तरह कवर कर लेती है 
और
गोले के रूप में सूरज दिखना बंद.
बट, उसकी रोशनी, किरणों के रूप में दीखती है.
जैसे सूरजमुखी के फूल की तरह का स्ट्रक्चर.
बीच से काला और 
इसके सर्किल के चारों तरफ लाइट.
इस लाइट का नाम है करॉना.

इसलिए इस वायरस का नाम करॉना 
दिया गया क्योंकि इसकी बनावट ऐसी ही है.

नाम जो भी हो.
है वायरस खतरनाक.
बच के रहना रे बाबा.

इमेज एंड इंफो सोर्स: गूगल


No comments: